साबुन का प्रयोग भी पहले पैरों में फिर हाथ और चेहरे पर करें । कई बार बच्चों की आँखों में साबुन चली जाती है जो की उसको बहुत तकलीफ दायक हो सकती है अतः चेहरे पर साबुन का उपयोग करने से बचें , हाँ आप एक गीले कपडे से चेहरा अच्छी तरह पोंछ सकते हैं ।

टीकाकरण के बाद, तुरंत बच्चे को स्नान न करने की सलाह दी जाती है । अक्सर टीका लगने के बाद बच्चे गरम महसूस करते हैं ऐसे में उनको नहलाना नुकसान दायक हो सकता है।


बच्चो का भोजन – एक माँ की सबसे बड़ी फ़िक्र यही लगी रहती है की उसके बच्चे का भोजन कैसा हो।    tip6_general        बच्चो की हमेशा नयी नयी चीज़े बनाकर खिलाये ।

छोटे बच्चे खाने को खिलने के लिए उनका मन बहलाना बहुत जरूरी होता है , इस समय उनको कोई कहानी सुना सकते है , या फिर मस्ती करते करते खिला सकते हैं ।

आज कल लोग बच्चे को खाना कहते वक़्त मोबाइल दे देते हैं , जोकि बहुत ही हानिकारक हो सकता है ।

अगर आपका बच्चा बैठने लगा हो तो उसे बिठाकर ही खाना खिलाएं , उन्हें लेटे हुए में कभी खाना न खिलाने की सलाह दी जाती है ।


आज के बच्चों में मूत्र संक्रमण बहुत ही आम समस्या है। एहतियात के लिए भारतीय शैली के शौचालय / स्थिति का उपयोग करें (सार्वजनिक शौचालय का उपयोग करते समः यह अतयंत जरूरी है)।


बच्चों के जननांग क्षेत्र को दैनिक अच्छी तरह से साफ़ करें , ये संक्रमण से बहुत जल्दी ग्रसित हो जातें हैं।

सामान्य मौसम के दौरान, 2-3 दिनों के अंतराल के भीतर बाल धो लें। यदि आपका बच्चा इसे पसंद करता है तो आप रोज भी बाल धो सकते हैं।


Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •